वर्तमान परिस्थिति में भारतीय जीवनदृष्टि की प्रासंगिकता-1

  – वासुदेव प्रजापति आज संपूर्ण विश्व कोरोना महामारी के प्रकोप से त्रस्त है। इस समय सभी देश अपने-अपने देशवासियों को कोरोना विषाणु से बचाने…

शब्द सामर्थ्य-11, थ, द

शब्द अर्थ थ थहराना भय से कांपना थाती अमानत द दंड-भंग शासन का उल्लंघन दंतकथा कल्पित कथा दक्षिणाचारी सदाचारी दयार्द्र दया से पसीजने वाला दर्प…

शिक्षा के मॉडल में आमूलचूल परिवर्तन का सही समय : कोरोना पूर्व एवं पश्चात्

 – डॉ० विकास दवे इस समय संपूर्ण विश्व कोरोना के संकट काल से गुजर रहा है। इस विषाणु ने पूरी दुनिया को एक बार फिर…

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-9 (ज्ञानार्जन के साधन : बुद्धि)

 – वासुदेव प्रजापति अब तक हमने जाना कि कर्मेन्द्रियों से ज्ञानेन्द्रियाँ अधिक प्रभावी हैं और ज्ञानेन्द्रियों से मन अधिक प्रभावी है। मन इसलिए अधिक प्रभावी…

कोरोना और बाल मनोविज्ञान

 – डॉ विकास दवे कोरोना विषाणु की महामारी केवल भारतीय समाज ही नहीं बल्कि संपूर्ण विश्व के लिए एक नया तथा विज्ञान और मनोविज्ञान से…

शब्द सामर्थ्य-10, त, त्र

शब्द अर्थ त तंगहाल संकट तंद्रा थकान तटस्थ दोनों दलों से अलग तत्त्वदर्शी दार्शनिक तत्सम शुद्ध तथोक्त उस तरह कहा हुआ तदनुसार उसके अनुसार तनु-पात…

पाती बिटिया के नाम-3 (जिजा के लाल)

– डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया। पिछली चिट्ठियों में तुमने देखा कि किस तरह शिवाजी के व्यक्तित्व का निर्माण हुआ और कैसे संस्कार उनके एक…

अपनी संतान ऐसा करती है क्या?

 – दिलीप वसंत बेतकेकर अपने बच्चे बड़े होकर बहुत यश प्राप्त करें, पराक्रमी बनें, अच्छी ख्याति प्राप्त करें, ऐसी इच्छा प्रत्येक माता-पिता की रहती है।…

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-8 (ज्ञानार्जन के साधन : मन)

 – वासुदेव प्रजापति ज्ञान प्राप्त करने के साधनों में अब तक हमने बहिःकरण के अन्तर्गत कर्मेन्द्रियों एवं ज्ञानेन्द्रियों को समझा। हमने यह भी जाना कि…

शब्द सामर्थ्य-9 झ, ट, ठ, ड. ढ

शब्द अर्थ झ झंकृति झंकार झकझक तकरार झंझावात तूफ़ान झपका झोंका झंडोत्तोलन झंडारोहण ट टंकक टाइपिस्ट, चांदी का सिक्का टसक पीड़ा टिल्लेबाजी बहाने गढ़ना टंच…