मातृभाषा में शिक्षा की दिशा में सार्थक पहल

– ललित गर्ग सशक्त भारत-निर्माण एवं प्रभावी शिक्षा के लिए मातृभाषा में शिक्षा की सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका है। शिक्षा को अपने समाज एवं राष्ट्र के…

राष्ट्रीय शिक्षा नीति और नेशनल रिसर्च फाउन्डेशन (एन.आर.एफ.)

 – डॉ० रविन्द्र नाथ तिवारी भारत भौगोलिक विविधता, जातीय बहुलता, भौतिक वातावरण में भिन्नता, आर्थिक विविधता और विश्व की सर्वाधिक युवा जनसंख्या वाले देश का…

राष्ट्रीय शिक्षा नीति और शिक्षक

– डॉ० रविन्द्र नाथ तिवारी भारतीय संस्कृति और दर्शन का विश्व में बड़ा प्रभाव रहा है, इस समृद्ध विरासत को आने वाली पीढ़ियों के लिए…

भारतीय ज्ञान परम्परा और राष्ट्रीय शिक्षा नीति

 – डॉ० रविन्द्र नाथ तिवारी भारतीय ज्ञान परंपरा अद्वितीय ज्ञान और प्रज्ञा का प्रतीक है जिसमें ज्ञान और विज्ञान, लौकिक और पारलौकिक, कर्म और धर्म…

मातृभाषा में प्राथमिक शिक्षा और राष्ट्रीय शिक्षा नीति

 – प्रो. रविन्द्र नाथ तिवारी भाषा विचारों के आदान-प्रदान करने का सशक्त माध्यम है। किसी भी बच्चे की प्रथम शैक्षिक गुरु माता ही होती है।…

School – A Centre for social change and service

 – D. Ramakrishna Rao NEP-20 did come out with a concept that Schools are to be promoted as ‘samajik chetna kendras’, is an indication to…

विद्यालयीन शिक्षा के संदर्भ में राष्ट्रीय शिक्षा नीति को धरातल पर उतारने की चुनौती

 – पिंकेश लता रघुवंशी बहुप्रतीक्षित राष्ट्रीय शिक्षा नीति -2020 की भारत सरकार द्वारा घोषणा व स्वीकृति पश्चात देश व समाज में इस विषय को लेकर…

An Attempt to make Education India Centric

In keeping with the changing times, Bharat truly needs a transformative educational system that will put the country on the path towards new dawn without…

राष्ट्रीय शिक्षा नीति और हमारी ज्ञान विरासत भाग-3

– वासुदेव प्रजापति रसायन शास्त्रज्ञों की भारत में कभी कमी नहीं रही। नागार्जुन, वाग्भट्ट, यशोधर, रामचन्द्र तथा सोमदेव प्रमुख रसायनज्ञ थे। हमारे यहाँ दस रस…

राष्ट्रीय शिक्षा नीति और हमारी ज्ञान विरासत भाग-2

–  वासुदेव प्रजापति भारतीय शिक्षा भारतीय समाज की सुव्यवस्था का श्रेय सनातन शिक्षा व्यवस्था को है। डा. ए एस अल्तेकर के अनुसार उपनिषत्काल में भारत…