पाती बिटिया के नाम-30 (बाहुबली मस्तिष्क)

– डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया, पढ़ाई के दौरान कई बार आप यह शिकायत करते पाए जाते हैं – “इतना सारा पाठ्यक्रम है हम क्या-क्या…

पालक, पालय और पैसा

– दिलीप वसंत बेतकेकर “Money is a terrible master but an excellent servant.” “पैसा मालिक के रूप में भयानक है, परन्तु नौकर के रूप में…

पाती बिटिया के नाम-29 (दृढ़ निश्चय)

– डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया, ‘भारत’ प्रारंभ से ही बड़ा शांतिप्रिय और गंभीर स्वभाव वाला बालक था। ‘ना काहु से दोस्ती, ना काहु से…

पाती बिटिया के नाम-28 (आओ करें!)

 – डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया, आज आपको दो घटनाएं सुनाने जा रहा हूँ। घटनाएँ हैं तो छोटी-छोटी किन्तु अपने में बहुत बड़े संदेश छुपाए…

बच्चों की प्रगति पुस्तिका का अध्ययन

 – दिलीप वसंत बेतकेकर तिमाही परीक्षा के पश्चात प्रगति पुस्तक पर पालकों के हस्ताक्षर लेकर छठी कक्षा के विद्यार्थी, अपनी कक्षा अध्यापिका के पास, प्रगति…

पाती बिटिया के नाम-27 (न दैन्यं, न पलायनम्)

 – डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया! अपने इस राष्ट्र की ख्याति शांति के प्रसार के लिए विश्वभर में रही है। इतिहास के अनेक ज्ञात-अज्ञात प्रसंगों…

पाती बिटिया के नाम-26 (ये कहाँ आ गए हम?)

 – डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया! विज्ञान का नाम लेते ही हम एक काल्पनिक दुनिया में खोने लगते हैं। तेज रफ्तार से भागती जिन्दगी में…

बरसात हो सवालों की!

 – दिलीप वसंत बेतकेकर “बिल्ली की आँखें रात्रि के समय क्यों चमकती हैं, पापा!” राजू ने समाचारपत्र पढ़ते कुर्सी पर बैठे हुए अपने पिताजी से…

पाती बिटिया के नाम-25 (हैप्पी न्यू ईयर)

 – डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया! नववर्ष की शुभकामनाएँ! तुम तो सहज ही समझ गई होंगी कि मैं तुमको हिन्दी नववर्ष की शुभकामना दे रहा…

पाती बिटिया के नाम-24 (जननी जन्मभूमिश्च स्वर्गादऽपि गरियसी)

 – डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया! केसर की क्यारी कश्मीर गोला बारूद की जहरीली हवा की चपेट में एक बार फिर आ गई। एक बार…