बाल केन्द्रित क्रिया आधारित शिक्षा – 8 (करणों का विकास)

 – रवि कुमार बालक के सर्वांगीण विकास की दृष्टि से करणों का विकास महत्त्वपूर्ण है । करण दो प्रकार के हैं – एक अन्तःकरण तथा…

अभिनव भारत की संकल्पना और शिक्षा-3

– अवनीश भटनागर शिक्षा के समक्ष चुनौती : आजकल वाट्सप पर अनेक सन्देश आते हैं । मेरे एक मित्र ने मुझे एक मेसेज भेजा, मैं…

अभिनव भारत की संकल्पना और शिक्षा-2

 – अवनीश भटनागर पंचकोशात्मक विकास भारत में शिक्षा जीवन विकास के लिए दी जाती रही है । उपनिषद् में व्यक्ति का व्यक्त्त्वि पंचकोशात्मक बताया है…

अभिनव भारत की संकल्पना और शिक्षा-1

– अवनीश भटनागर शिक्षा एक ऐसा पक्ष है, जिससे किसी भी राष्ट्र की प्रगति या अवनति जुड़ी हुई है । राष्ट्र के सर्वांगीण विकास में…

Success is not final, failure is not fatal ; it is the courage to continue that counts.

I Used to work in petrol Bunks  -Dhirubhai Ambani ” I was rejected in the interview of Pilot” Abdul Kalam   ” I was rejected…

राष्ट्र की सम्पर्क भाषा के रूप में हिन्दी का मानकीकरण अपेक्षित

भारत जैसे विशाल देश में, जहाँ संविधान में 18 भाषाओं को आठवीं अनुसूची में रखा गया है और 800 से अधिक भाषाएँ बोली-समझी जाती हों,…

बाल केन्द्रित क्रिया आधारित शिक्षा -7 (एकाग्रता)

गत अंक में हमने ‘कक्षाकक्ष में नवाचार’ विषय पर विचार किया था । इस अंक में हम एकाग्रता के विषय पर चर्चा करेंगे । एक…

Making the Education Nation- Centric

On the occasion of the 150th birth anniversary of Swami Vivekananda being celebrated all over the country and the World, it is the high time…

बाल केन्द्रित क्रिया आधारित शिक्षा – 6 (नवाचार)

नवाचार यानि कक्षा शिक्षण में नया क्या है? बालक कक्षा में पढ़ता है । बालक से पूछो कि आज नया क्या पढ़ा? तो वह बताएगा…

विद्यार्थी जीवन एक आदर्श जीवन कैसे बने?

सुखार्थीः चेत् त्यजेत् विद्याम् विद्यार्थीः चेत् त्यजेत् सुखम् ॥ अर्थात् यदि सुख की कामना है तो विद्या की आशा छोड़ दें और यदि विद्या की कामना…