शब्द सामर्थ्य-5 क

शब्द

अर्थ

कंटकाकीर्ण बाधायुक्त
कज्जलित काला
कतिपय कुछ थोड़े से
कदर्य कायर, कृपण
कनिष्ठ छोटा
करण उपकरण, करना
कर्ण-परंपरा सुनी-सुनाई बात फैलाना
कर्मनिष्ठ कर्मठ
कलुष मल,पाप
कंटक-शोधन बाधा दूर करना
कटाक्ष व्यंग्य
कथावस्तु कहा जाने वाला विषय
कदाचन कभी-कभी
कपट-प्रबंध छल का जुगाड़
करद कर देने वाला
कर्त्तव्य-विमूढ़ कर्त्तव्य न समझने वाला
कलक विपत्ति
कल्प युग
कचोट वेदना
कटूक्ति कड़वी बात
कदर्थना निंदा
कदाचित् शायद
कपोतवृति असंचयी वृत्ति
करुणाकर दयालु
कर्मण्य उद्योगी
कलि-प्रिय झगड़ालू
कशाघात तीव्र प्रेरणा
का
कांक्षित इच्छित
काकदंत असम्भव बात
कायिक शारीरिक
कार्मिक कर्मी
कार्यावली एजेंडा
कालातीत समय बीत चुका हो
कान्तासक्ति पति-पत्नी के भाव से प्रेम
कापुरुष कायर
कायोत्सर्ग मरना
कार्य-क्षम कार्य करने में सक्षम
काल-क्रम तिथिवार
कालानुक्रम समयानुसार व्यवस्था
काक-चेष्टा कौए की भांति चौकन्ना
काम्य सुखद,इच्छित
कारुणिक दयालु
कार्यान्वयन निश्चय को कार्य रूप देना
कालांतर अन्य समय में
कालिक समय पर होने वाला
कालुष्य कालापन
कि
किंचन थोड़ी वस्तु
किंवदंती लोकापवाद
किल्विष अपराध
की
कीर्तित प्रसिद्ध
कु
कुंठक बुद्धिहीन
कुचक्र षड्यंत्र
कुढब बुरे तरीके का
कुपथ्य हानिप्रद भोजन
कुटिल टेढ़ा
कुतूहल उत्सुकता
कुल-कंटक कुल को दुखी करने वाला
कुठाट अनुचित तड़क- भड़क
कुत्सा बुराई, निंदा
कुशाग्रबुद्धि तेज बुद्धि वाला
कुहराम रोना-कलपना
कू
कूट असत्य, रहस्य
कूट-कर्म धोखे का काम
कूटार्थ गुप्त अर्थ
कृ
कृत-कृत्य कृतार्थ
कृत-संकल्प दृढ़ विचार
कृश कमजोर
के
केंद्रस्थ मध्य स्थित
केन्द्राभिमुख केन्द्र की ओर जाने वाला
केंद्रीकरण केन्द्र में लाना
केन्द्रीभूत केन्द्र में एकत्रित
केवलात्मा ईश्वर
कै
कैशोर्य लड़कपन
को
कोटि-बद्ध वर्गीकृत
कोष्ठक कोठा, ब्रैकिट
कौ
कौटुम्बिक पारिवारिक
कौतुक तमाशा
क्र
क्रंदन रोना
क्रमागत ठीक क्रम में
क्रीडा-कोप दिखावटी गुस्सा
क्रीत खरीदा हुआ
क्रूरात्मा दुष्ट
क्
क्लांत थका हुआ
क्लिष्ट बेमेल, जटिल
क्लेशक कष्टकारक
क्वचित शायद ही कोई

Facebook Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *