शब्द सामर्थ्य-6 ख, ग


 

शब्द

अर्थ

खटना परिश्रम करना
खनक जमीन खोदने वाला
खर्व नाटा,सौ अरब
खादक ऋणी
खटाना निर्वाह करना
खरदिमाग मूर्ख
खल दुष्ट
खादर नदी किनारे की जमीन
खड्गधारा अत्यंत कठिन कार्य
खरस्वर कठोर स्वर
खलु निश्चयपूर्वक
खानाबदोश यायावर
खुर्द-बुर्द इधर- उधर गायब करना
ख्वार नष्ट-भ्रष्ट
ख्यात प्रसिद्ध
ख्वाहिश इच्छा
ख्यापन भूल स्वीकारना

गंगा-गति मोक्ष
गन्तुक पथिक
गजधर राजमिस्त्री
गणक ज्योतिषी
गतप्राय जो लगभग जा चुका हो
गतार्थ बेकार
गरिष्ठ अत्यंत भारी
गर्भित अंतर्गत
गलार झगड़ालू
गवेषण खोजना
गार्हपत्य घर का स्वामित्व
गीर्ण कहा हुआ
गुटनिरपेक्ष किसी गुट से सम्बद्ध न होना
गुणाढ्य बहुत गुणों वाला
गुरुत्व भारी, श्रेष्ठता
गृत्स योग्य,चतुर
गोचरी भिक्षावृत्ति
गोरख-धंधा झंझट
गौर-तलब विचारणीय
ग्रहणीय मानने योग्य
गंगाजमुनी मिलीजुली
गँवारू देहाती
गज-निमीलिका जानबूझ कर अनजान बनना
गणनीय गिना जाने योग्य
गतसत्व सारहीन
गत्यवरोध गति में अवरोध
गर्दिश संकट
गर्ववंत घमंडी
गलित अनुचित
गहन अथाह
गार्हस्थ्य गृहस्थाश्रम
गुंजलक उलझन
गुणग्राहक गुण का सम्मान करनेवाला
गुणातीत गुणों से परे
गुरुघंटाल बहुत शातिर आदमी
गृह्यसूत्र गृहस्थ जीवन के बारे ग्रन्थ
गोधूलि संध्या
गोष्ठ मंडली
ग्रथित बंधा
ग्रहीता ग्रहण करने वाला
गंजन तिरस्कार
गगनचुम्बी बहुत ऊँचा
गजस्नान बेकार का काम
गतचेतन अचेतना
गतानुगत परम्परा से चला आता हुआ
गरिमा गौरव
गर्भदास जन्म से दास
गर्हणीय निंदनीय
गल्प झूठी बात
गाम्भीर्य गम्भीरता
गिरिपाद पहाड के नीचे मैदान
गुंठन छिपना
गुणधर्म किसी पदार्थ का विशेष गुण
गुणानुवाद बड़ाई करना
गूढ़ छिपा, गंभीर
गोचर इन्द्रिय द्वारा ज्ञात होने योग्य
गोपन छिपाव
गौण जो मुख्य न हो
ग्रसन पकड़ना
ग्राम-धर्म गांव के रीति रिवाज़

और पढ़ें : शब्द सामर्थ्य-5 क

Facebook Comments