शब्द सामर्थ्य-8 छ, ज


 

शब्द

अर्थ

छतीसा मक्कार
छलित ठगा हुआ
छिन्न-भिन्न कटा-फटा
छद्मावरण झूठा आवरण
छादन ढंकना
छींटाकशी आक्षेप लगाना
छल-छंद, छल-बल कपटजाल
छिद्रदर्शी दोष ढूंढने वाला

जंगम चलता-फिरता
जघन्य नीच
जद्दोजहद संघर्ष
जन-प्रवाद लोक निंदा
जनाकीर्ण घनी आबादी वाला
जगज्जननी जगदम्बा
जड़त्व जड़ता
जनचर्चा लोक प्रचलित बात
जनश्रुत विख्यात
जनाश्रय सराय
जगन्नियंता जग का नियंत्रण करनेवाला
जड़ीभूत स्तब्ध
जनपद जिला,इलाका
जनश्रुति अफवाह
जन्मसिद्ध जन्म से ही प्राप्त
जयघोष जय का नारा
जरा वृद्धावस्था
जलावतन देशनिकाला
जाज्वल्यमान तेजवान
जिगीषा विजय प्राप्त करने की इच्छा
जितात्मा जितेंद्रिय
जीर्णोद्धार टूटी-फूटी वस्तुओं में सुधार
जीवनचर्या रहन-सहन का ढंग
जीविष्णुता जीवन-शक्ति
जौहर रत्न,सती होना
ज्ञान-गम्य जो जाना जा सके
ज्ञानावरण ज्ञान की प्राप्ति में बाधा
ज्येष्ठ बड़ा
ज्वलंत चर्चित, स्पष्ट
जयश्री विजयलक्ष्मी
जर्जर जीर्ण
जल्प प्रलाप
जायज उचित
जिजीविषा जीने की इच्छा
जिहासु त्याग की इच्छा रखनेवाला
जीवंत जीता-जागता
जीवन-वृत्त जीवन चरित्र
जुगुप्सा निंदा,घृणा
ज्ञप्ति ज्ञान
ज्ञानचक्षु अंतर्दृष्टि
ज्ञापन सूचित करना
ज्योतिर्मय प्रकाशवान
जयिष्णु सदा जीतने वाला
जलातन क्रोधी
जागतिक सांसारिक
जावन्य शीघ्रता
जिज्ञासु जानने की इच्छा रखनेवाला
जिहीर्षा हरण करने की इच्छा
जीवनक्षम जीने की क्षमता
जीवन्मृत जो जीते हुए भी मरे जैसा हो
जेतव्य जो जीता जा सके
ज्ञातव्य जानने योग्य
ज्ञानपिपासा जानने की तीव्र इच्छा
ज्ञेय जानने योग्य
ज्योत्स्ना चाँदनी

Facebook Comments