संत कबीर का ज्ञान विमर्श

– डॉ० ऋतु भारतीय चिंतन परंपरा में ज्ञान अत्यंत महत्वपूर्ण है। प्राचीन वाङमय में इस चिंतन की सुदीर्घ परंपरा उपलब्ध है। अनेक मनीषियों ने इस पर गहन चिंतन-मनन किया है।…

पाती बिटिया के नाम-27 (न दैन्यं, न पलायनम्)

 – डॉ विकास दवे प्रिय बिटिया! अपने इस राष्ट्र की ख्याति शांति के प्रसार के लिए विश्वभर में रही है। इतिहास के अनेक ज्ञात-अज्ञात प्रसंगों…

कैसे अंग्रेजों ने ध्वस्त की भारत की विकसित शिक्षा प्रणाली : आओ जाने – 1

 – प्रशांत पोळ हमारे देश में शिक्षा व्यवस्था तथा पाठशालाएं अंग्रेजों ने प्रारंभ की, ऐसा कहा जाता है। अंग्रेज़ आने के पहले देश में शिक्षा…

महात्मा ज्योतिबा फुले का शिक्षा दर्शन

 – पांडुरंग कुलकर्णी विद्या बिना मति गयी ! मति बिना नीति गयी ! नीति बिना गती गयी ! गती बिना वित्त गया ! वित्त विना…

पाती बिटिया के नाम-23 (खामोशियों की मौत गंवारा नहीं है)

 – डॉ विकास दवे खामोशियों की मौत गंवारा नहीं है मुझे शीशा हूँ टूट कर भी खनक छोड़ जाऊँगा प्रिय बिटिया! हिन्दू संस्कृति प्रारम्भ से…

भारतीय शिक्षा – ज्ञान की बात-27 (भारतीय शिक्षा का प्रतिमान : समग्र विकास)

 – वासुदेव प्रजापति आज का विषय प्रारम्भ करने से पूर्व एक संस्मरण का स्मरण कर लेते हैं – मैडम मैं नाली बना रहा हूँ यह…

बाल केन्द्रित क्रिया आधारित शिक्षा-25 (पाठन पद्धति के प्रमुख आयाम)

 – रवि कुमार ‘बाल केंद्रित क्रिया आधारित शिक्षा’ यह सर्व विदित है। इसका अर्थ भी सब समझते है। परंतु इसका व्यवहार रूप देखने को कम…

बाल शिक्षा शास्त्री गिजुभाई बधेका – 15 नवंबर जयंती विशेष

– डॉ. नीतिन पेथाणी गिजुभाई बधेका को गुजरात में ‘मूछालीमाँ’ अर्थात ‘मूछोंवाली माँ’ के नाम से जाना जाता है। शिशु व बाल शिक्षा के संबंध…

महाऋषि वाल्मीकि का अवदान

-डॉ कुलदीप मेहंदीरत्ता भाग्यशाली भारत भूमि पर समय समय पर महापुरुषों ने अवतार लिया है और अपनी वाणी व कलम से भारत का ही नहीं…

अखण्ड भारत का संकल्प और स्वतंत्रता का सही अर्थ

– रवि कुमार 15 अगस्त का दिन कहता आजादी अभी अधूरी है। सपने सच होने बाकी है रावी की शपथ न पूरी है।। उपरोक्त पंक्तियां…