भगिनी निवेदिता :  जिनके रगों में दौड़ती थी भारत-भक्ति की लहरें – 28 अक्टूबर, जयन्ती पर विशेष

 – प्रियंवदा मधुकर पांडे स्वामी विवेकानन्द ने भगिनी निवेदिता से कहा था कि “भविष्य की भारत-संतानों के लिए तुम एकाधार में जननी, सेविका और सखी बन…