डाकोर जी का शंकर

✍ गोपाल माहेश्वरी वीरों की गाथाएँ सुनकर वीरोचित मानस बनता है। मातृभूमि पर बलि होने का बच्चों में साहस ठनता है।। कहानियाँ तो प्रायः सभी…

फुलेश्वरी का बलिदानी नेतृत्व

✍ गोपाल माहेश्वरी होती जिनके खेलों में भी राष्ट्र भक्ति की प्रबल भावना वे बच्चे इतिहास बनाते चुनें चुनौती करें सामना। खेल तो बचपन का…

शिवाजी महाराज जैसा साहसी- शिवा झा

✍ गोपाल माहेश्वरी छोटा सा पर हीरा हो तो तेज आँच भी सह जाता है, बहुत बड़ा मिट्टी का ढेला पानी से गल बह जाता…

वीर बाला कनकलता

✍ गोपाल माहेश्वरी चढ़ता यौवन खिलता बचपन केसरिया कैशौर्य समर्पण। जीवन पाया जिस माटी में उस माटी पर जीवन अर्पण।। विवाह रचाना बड़ों का काम…

बालवीर सोमा भाई

✍ गोपाल माहेश्वरी अधखिले ही चढ़ गए जो सुमन अपनी मातृभू पर। स्वातन्त्रय उपवन की बहारें श्रद्धा सहित उन पर निछावर।। जीवन में संस्कार बोने…

दृढ़ निश्चयी बालाजी

✍ गोपाल माहेश्वरी चिंगारियाँ अंगार से जब आग लेकर छूटती हैं। बुझने से पहले वह समूचा वन जलाती लूटती हैं।। वह सारी रात जागा था…

साहस का पुतला – रमेशदत्त

✍ गोपाल माहेश्वरी खिल रहा हो फूल जीवन का उसे माँ को चढ़ा दो, जब तिरंगा थामना हो काम छोड़ो कर बढ़ा दो। प्रयागराज युगों-युगों…

स्वतंत्रता के सात दीवाने

✍ गोपाल माहेश्वरी राष्ट्रभक्ति जब छात्रशक्ति के हृदयों में फलने लगती है। पर्वत सी हो विकट चुनौती पत्ते सी हिलने लगती है।। स्वतंत्रता के आन्दोलनों…

शेन्दुर्णी का लाल-सुखलाल

✍ गोपाल माहेश्वरी देश में रह देश के जो शत्रुओं के मित्र हैं। उन शत्रुओं को दण्ड देना कर्म पुण्य पवित्र है। कोई विदेशी शत्रु…

बलिदानी शरिश कुमार

✍ गोपाल माहेश्वरी रक्त में भीगी हुई वे लाल माटी पर पड़े थे, उम्र में छोटे सही वे लाल पर्वत से बड़े थे। जिस समय…